[ॐ जय लक्ष्मी माता] Om Jai Lakshmi Mata Bhajan Lyrics | Aarti Sangrah

Mata Lakshmi Ji Ki Aarti MP3 Text Lyrics and HD Video


माता लक्ष्मी धन सम्पदा की देवी हैं। माँ सब पे क्रिया बनाये रखें। माँ लक्ष्मी की आरती से सब संभव हो जाता है और मन विचलित नहीं होता है। प्रेम से बोलिये माँ महालक्ष्मी जी की जय यहां हम माता लक्ष्मी जी की आरती हिंदी पाठ गीत प्रस्तुत करते हैं


AI Generated Maa Lakshmi Images





मां लक्ष्‍मी की आरती गीतिकाव्य [ Maa Lakshmi Ki Aarti Lyrics in Hindi ]


मां लक्ष्‍मी की आरती मां लक्ष्‍मी की आरती
ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता ।
तुमको निसदिन सेवत, हर विष्णु विधाता ॥
उमा, रमा, ब्रम्हाणी, तुम ही जग माता ।
सूर्य चद्रंमा ध्यावत, नारद ऋषि गाता ॥
॥ॐ जय लक्ष्मी माता...॥

दुर्गा रूप निरंजनि, सुख-संपत्ति दाता ।
जो कोई तुमको ध्याता, ऋद्धि-सिद्धि धन पाता ॥
॥ॐ जय लक्ष्मी माता...॥

तुम ही पाताल निवासनी, तुम ही शुभदाता ।
कर्म-प्रभाव-प्रकाशनी,भव निधि की त्राता ॥
॥ॐ जय लक्ष्मी माता...॥

जिस घर तुम रहती हो, ताँहि में हैं सद्‍गुण आता ।
सब सभंव हो जाता, मन नहीं घबराता ॥
।।ॐ जय लक्ष्मी माता...॥

तुम बिन यज्ञ ना होता, वस्त्र न कोई पाता ।
खान पान का वैभव, सब तुमसे आता ॥
ॐ जय लक्ष्मी माता...॥

शुभ गुण मंदिर सुंदर, क्षीरोदधि जाता ।
रत्न चतुर्दश तुम बिन, कोई नहीं पाता ॥
।।ॐ जय लक्ष्मी माता...॥

महालक्ष्मी जी की आरती, जो कोई नर गाता ।
उँर आंनद समाता, पाप उतर जाता ॥
॥ॐ जय लक्ष्मी माता...॥

मां लक्ष्‍मी की आरती संपूर्ण वीडियो